2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

Students can Download 2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव Pdf, 2nd PUC Hindi Textbook Answers, helps you to revise the complete Karnataka State Board Syllabus and to clear all their doubts, score well in final exams.

Karnataka 2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

I. एक शब्द या वाक्यांश या वाक्य में उत्तर: दीजिए।

प्रश्न 1.
स्वर्ग या नरक में निवास स्थान अलॉट करने वाले कौन है?
उत्तर:
स्वर्ग या नरक में निवास स्थान अलॉट करनेवाले है धर्मराज।

प्रश्न 2.
भोलाराम के जीव ने कितने दिनो पहले देह त्यागी?
उत्तर:
भोलाराम के जीव ने 5 दिनो पहले देह त्यागी।

प्रश्न 3.
भोलाराम का जीव किसे चकमा देगाया।
उत्तर:
भोलाराम के जीव ने उसे लेने गए दूत को चकमा दिया।

2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

प्रश्न 4.
भोलाराम को पांच साल से क्या नही मिला?
उत्तर:
भोलाराम को पांच साल से पेन्शन नहीं मिला।

प्रश्न 5.
नारद जी भोलाराम की पत्नी से विदा लेकर कहाँ पहुँचे?
उत्तर:
नारद जी भोलाराम की पत्नी से विदा लेकर सरकारी दफ्तर पहुँचे।

प्रश्न 6.
बड़े साहब के कमरे के बाहर कौन ऊँध रहा था?
उत्तर:
बड़े साहब के कमरे के बाहर चपरासी ऊँध रहा था।

2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

प्रश्न 7.
फाइल में से किसकी आवाज आयी?
उत्तर:
पेंशन की फाइल में से भोलाराम के जीव की आवाज आई।

II. निम्न लिखित प्रश्नों के उत्तर: लिखिए:

प्रश्न 1.
भोलाराम का परिचय दीजिए।
उत्तर:
भोलाराम धर्मापुर मुहले में नाले के किनारे एकडेढ कमरे के टूटे पूरे मकान में अपने परिवार, के साथ रहता था एक स्त्री और दो लडके। लडकी के भोलाराम एक गरीब आदमी था। पाँच साल हुए रिटायर हुआ था पर पेन्शन अभी तक नही मिल रही थी। हर दस-पन्द्रह दिन में वह एक दरस्वास्त देता पर दफ्तर के लोगों को खुश करने के लिए उसके पास कुछ नही था इसलिए उसे हरबार यही जवाब मिलता कि उसके पेन्शन के मामले पर विचार हो रहा है। सब कुछ बेचने के बाद गरीबी में भूखे मरते-मरते उसने दम तोड़ दिया था।

2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

प्रश्न 2.
भोलाराम की पत्नी ने नारद से क्या विनती की?
उत्तर:
नारद जब भोलाराम के जीव को ढूँढते हुए उनके घर गए तब नारद को पता चला कि पिछले पाँच साल से. भोलाराम को पेंशन नही मिली। घरमें जो बेचने लायक था उन्होंने बेच दिया था। वे लोग बहुत गरीबी में जी रहे थे। भोलारामकी पत्नी ने नारद से कहा कि वह साधु, सिद्ध पुरुष है। वह कुछ ऐसा कर दे जिस से रुकी हुई पेंशन मिल जाये। उनके बच्चों का पेट तो कुछ दिन भर जाए।

III. ससंदर्भ स्पष्टीकरण कीजिए।

प्रश्न 1.
इन पाँच दिनों में मैने सारा ब्रम्हाण्ड, छान डाला, पर उसका कंही पता नही चला।
उत्तर:
प्रसंग : इस वाक्य को ‘भोलाराम के जीव’ पाठ से लिया गया है जिसके लेखक है-हरिशंकर परसाई।

व्याख्या : इस वाक्यको यमदूतने चित्रगुप्त से कहा है। भोलाराम जो पाँच दिन पहले मर गया था। उसका जीव यमदूत को ऐसे चकमा देकर गायब हो गया था कि उसे सारा ब्रम्हाड छान मारने पर भी वह नही मिला था।

2nd PUC Hindi Workbook Answers गद्य Chapter 7 भोलाराम का जीव

प्रश्न 2.
पेंशन का आर्डर आ गया?
उत्तर:
प्रसंग : इस वाक्य को ‘भोलाराम के जीव’ पाठ से लिया गया है. जिसके लेखक है-हरिशंकर परसाई।

व्याख्या : नारद मुनि ने पेंशन के दफ्तर में जाकर बड़े बाबू से बात की और अपनी वीणा उसे भेंट के रूप में दी तो बाबू ने तुरंत भोलाराम की फाइल को लाने के लिए कहा। फिर से एक बार बड़े बाबू ने ‘भोलाराम’ ही ना? पूछा तो एकदम से ऊपर की आवाज़ उस फाइल से आई। जो भोलाराम के जीव की आवाज़ थी।